Aap Kitana Hamen Sataate hain.

0
144

||#Gajal||

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

aap kitana hamen sataate hain,

roj hee mushqilen badhaate hain!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

is tarah kaise jee sakenge ham,

raasta kyon nahin bataate hain!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

chaand ko neend aagee shaayad;

sirph taare hee nazr aate hain!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

baavafa jo nahin rahe khud hee,

vo hamen bevafa bataate hain!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

aaj ke aashikon kee kya kahiye,

khvaab jhoothe sabhee dikhaate hain!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

unake hansane kee khaasiyat hai ye,

ho ke tanaha bhee muskuraate hain!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

ham ko chaahat nahin samandar kee,

ret mein kashtiyaan chalaate hain!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

rahanuma desh ke hue kaise ,

desh apana bura bataate hain!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

sharm inako nahin magar thodee,

desh ko bech kar ye khaate hain!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

aaap sab hoshiyaar rahiyega ,

baagavaan bhee chaman jalaate hain!!

———— Avneesh——————-

||#गजल||
◆◆◆◆◆◆

आप कितना हमें सताते हैं,
रोज ही मुश्क़िलें बढ़ाते हैं!!
◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
इस तरह कैसे जी सकेंगे हम,
रास्ता क्यों नहीं बताते हैं!!
◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
चाँद को नींद आगई शायद;
सिर्फ तारे ही नज़्र आते हैं!!
◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
बावफ़ा जो नहीं रहे खुद ही,
वो हमें बेवफ़ा बताते हैं!!
◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
आज के आशिकों की क्या कहिये,
ख़्वाब झूठे सभी दिखाते हैं!!
◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
उनके हँसने की ख़ासियत है ये,
हो के तनहा भी मुस्कुराते हैं!!
◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
हम को चाहत नहीं समंदर की,
रेत में कश्तियाँ चलाते हैं!!
◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
रहनुमा देश के हुए कैसे ,
देश अपना बुरा बताते हैं!!
◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
शर्म इनको नहीं मग़र थोड़ी,
देश को बेच कर ये खाते हैं!!
◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
अाप सब होशियार रहियेगा ,
बागवाँ भी चमन जलाते हैं!!
◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
———— अवनीश————

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here