Teri Himmat Ko Salaam.

0
10

💐#teri_himmat_ko_salaam💐

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

kar raha hai desh saara, teri himmat ko salaam,

har jubaan duhara rahee hai,aaj bas tera hee naam!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

o vatan ke paharuo, maan bhaaratee ke laadalo,

garv karata aaj tujh par, desh ka har khaaso aam!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

jaagata hai too to saara,desh sota chain se,

ho jahaan bhee sarahadon par,chain hai tujhako kahaan!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

garmiyaan ya sardiyaan hon, ya ki hon barasaat bhee,

joojhata hai too prakrti se, sarahadon par loo jahaan!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

parvaton kee chotiyaan hon, ya ghane jangal kaheen,

baadh mein hon uphanatee, nadiyaan magar chinta nahin!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

atal saagar mein, marusthal kee dahakatee ret mein,

hon dhalaanen parvaton kee,aur samatal khet mein!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

chhod kar chinta sabhee maan, baap kee ,parivaar kee,

sneh beta betiyon ka , preyasee ke pyaar kee!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

kar raha raksha nirantar, desh ke abhimaan kee ,

ekata kee, aur bhaarat varsh ke sammaan kee!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

raat din dil mein tumhaare, maatr-bhoo ka naam hai,

he sipaahee desh ke, tujhako anant pranaam hai!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

—————vidya bhooshan—————–

 

💐#तेरी_हिम्मत_को_सलाम💐
◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
कर रहा है देश सारा, तेरी हिम्मत को सलाम,
हर जुबाँ दुहरा रही है,आज बस तेरा ही नाम!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
ओ वतन के पहरुओ, माँ भारती के लाडलो,
गर्व करता आज तुझ पर, देश का हर खासो आम!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
जागता है तू तो सारा,देश सोता चैन से,
हो जहाँ भी सरहदों पर,चैन है तुझको कहाँ!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
गर्मियाँ या सर्दियाँ हों, या कि हों बरसात भी,
जूझता है तू प्रकृति से, सरहदों पर लू जहाँ!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
पर्वतों की चोटियाँ हों, या घने जंगल कहीं,
बाढ़ में हों उफनती, नदियाँ मगर चिंता नहीं!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
अतल सागर में, मरुस्थल की दहकती रेत में,
हों ढलानें पर्वतों की,और समतल खेत में!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
छोड़ कर चिंता सभी माँ, बाप की ,परिवार की,
स्नेह बेटा बेटियों का , प्रेयसी के प्यार की!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
कर रहा रक्षा निरन्तर, देश के अभिमान की ,
एकता की, और भारत वर्ष के सम्मान की!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆
रात दिन दिल में तुम्हारे, मातृ-भू का नाम है,
हे सिपाही देश के, तुझको अनंत प्रणाम है!!

◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆◆

———- विद्या भूषण ————–

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here