Home Blog

Kargil Vijay Diwas Shayari

0
de-salami-is-tirange-ko
दे सलामी इस तिरंगे को जिससे तेरी शान है, सर हमेशा ऊँचा रखना इसका जब तक दिल में जान हो। De salami is tirange ko Jisse teri shaan hai, Sar...

Kargil Vijay Diwas

0
kargil-vijay-divas
” अपनी आज़ादी को हम हरगिज़ मिटा सकते नहीं। सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नहीं।।” Apni aazadi ko ham haragiz mita sakate nahin. Sar...

Jis Din Tu Shaheed Hua…

0
Jis-din-tu-shaheed-hua
जिस दिन तू शहीद हुआ न जाने किस तरह तेरी माँ सोइ होगी मै तो बस इतना जणू कि वह गोली भी तेरे सीने में...

Ek Sathi Aur Bhi Tha…

0
sad-shayari
"सैनिक अपनी आखिरी सांस तक लड़ते हैं इसलिए नही कि वे अपने सामने वालों से नफरत करते हैं बल्कि इसलिए क्योंकि वे अपने पीछे खड़े लोगों से...

Pulwama Ke Veer

0
pulwama-ke-veer
भीड़ के सैलाब के बीच शाँति की किल्लत तो हमने मानी है। आज मैंने खुद से पूछ ही लिया - फिर मौत के बाद की शाँति, क्यों लगती...

Aadhi Raat Ko

0
आधी रात को सपना आ जाता है, फिर सोना मुश्किल हो जाता है, Aadhi raat ko sapna aa jaata hai, Phir sona mushkil ho jaata hai, खुदा की...

Najar Mein Rehne Do

0
love-shayari
नहीं जो दिल में जगह तो नजर में रहने दो, मेरी हयात को तुम अपने असर में रहने दो, Nahi Jo Dil Mein Jagah To Najar...

Pyar ka Mausam

0
love-shayari
आँखों से कहो प्यार का अंदाज ना बदलें, साँसो से कहो दर्द का साज़ ना बदलें, Ankho se kaho pyar ka andaz na badle Sanson se kaho...

Hasi Ke Raste

0
yaad-shayari
Hasi Ke Raste हंसी के रास्ते पे चला करो, खुशियो की महक लिया करो, Hasi Ke Raste Pe Chala Karo, Khushiyo Ki Mahak Liya Karo, प्यार से दिलों को...

Bas Mujhe Utna Samajh

0
bas mujhe utna samajh
मैं न अंदर से समंदर हूँ न बाहर आसमान, बस मुझे उतना ही समझना जितना नजर आता है मैं हूँ। Main Na Andar Se Samandar Hoon...
de-salami-is-tirange-ko

Kargil Vijay Diwas Shayari

0
दे सलामी इस तिरंगे को जिससे तेरी शान है, सर हमेशा ऊँचा रखना इसका जब तक दिल में जान हो। De salami is tirange ko Jisse teri shaan hai, Sar...
kargil-vijay-divas

Kargil Vijay Diwas

Jis-din-tu-shaheed-hua

Jis Din Tu Shaheed Hua…

sad-shayari

Ek Sathi Aur Bhi Tha…

pulwama-ke-veer

Pulwama Ke Veer